25.1 C
Delhi
Sunday, August 1, 2021
ADVERTISEMENT

कुमकुम भाग्य,10 जुलाई के एपिसोड की पूरी कहानी का लिखित अपडेट हिंदी में

कुमकुम भाग्य : एपिसोड की शुरुआत में, प्रज्ञा मेहरा मेंशन जाती है और अभि के साथ अपनी यादों को याद करते हुए भावुक हो जाती है। वह अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाई और रोने लगी। तब वह सोचती है कि सुषमा सही कह रही थी, अभि की बात आते ही वह कमजोर हो जाती है। वह सुषमा को वीडियो कॉल करती है और कहती है कि वह सही कह रही है। वह कहती हैं कि ऑस्ट्रेलिया में वह उनकी हर चुनौती को स्वीकार करती थी लेकिन भारत में वह कमजोर हो जाती हैं। सुषमा का कहना है कि उन्हें यह बात पता थी कि ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने हर डील जीती और अपने होम टाउन में वह वैसी नहीं हैं।

सुषमा उसे बताती है कि उसने मेहरा हवेली की नीलामी नहीं रोकी है। वह उसे अपनी भावनाओं को जाने देने के लिए कहती है। वह कहती है कि अगर उसे उस घर की अच्छी बातें याद रहेंगी तो उसे कैसे याद रहेगा कि उसी घर के लोगों ने उसे मारने की कोशिश की थी। वह उसे बताती है कि उसने नीलामी की सारी व्यवस्था कर ली है। इसी बीच अभि भी वहां आ जाता है। उसे पता चलता है कि प्रज्ञा भी वहीं है और उसे एक कमरे से फूलदान गिरने की आवाज भी सुनाई देती है। प्रज्ञा कमरे का गेट खोलने की कोशिश करती है लेकिन वह अटक जाता है और वह उसे नहीं खोल पाती है।

अभि उससे कहता है कि वह जानता है कि वह कमरे के अंदर है। वह उसे बताता है कि उसे पता चला है कि वह आज इस घर को नीलाम करने की योजना बना रही है। प्रज्ञा कहती है कि वह उससे बात नहीं करना चाहती। तभी उसे अचानक सांस लेने में तकलीफ होने लगी। अभि उसे शांत होने और उससे लड़ना बंद करने के लिए कहता है। फिर वह गेट तोड़ देता है। प्रज्ञा उससे कहती है कि वह उसके लिए नकली चिंताएं दिखाना बंद करे और उससे दूर भी रहे। अभि उससे कहता है कि वह उसके बारे में ऐसा कैसे सोच सकती है? वह बेहोश होने वाली होती है तभी अभि उसे पकड़ लेता है। वह उसे गहरी सांस लेने के लिए कहता है। लेकिन वह बेहोश हो जाती है।

उसकी सेक्रेटरी आती है और अभि उसे डॉक्टर को बुलाने के लिए कहता है। इस बारे में प्रज्ञा की सेक्रेटरी सुषमा को बताती है। तभी सुषमा आती है और अभि को प्रज्ञा से दूर रहने के लिए कहती है। वह उसे कहती है कि वह एक अच्छा पति नहीं है। तभी डॉक्टर आता है और प्रज्ञा को इंजेक्शन देता है। तभी अभि वहां से जाने वाला होता है लेकिन प्रज्ञा उसे रोक देती है। अभि कहता है कि वह जानता था कि वह उसे रोकेगी और उससे बात करेगी। अभि कहता है कि वह उसे, उसका व्यवसाय और सब कुछ पसंद करता है लेकिन जिस तरह से वह उसके साथ व्यवहार करती है वह उसे पसंद नहीं है। वह कहता है कि पहले वह प्यार से नाराज़ रहती थी, इसलिए वह तुम्हें फुगी कहता था। प्रज्ञा कहती है कि वह अब उसकी फुगी नहीं है।

अगले एपिसोड में – अभि प्रज्ञा से कहता है कि उसने उसे नीचा दिखाने के लिए इतनी ऊंचाइयां हासिल की हैं, लेकिन वह उसे सफल नहीं होने देगा और इस घर को नीलाम नहीं होने देगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

9,997FansLike
45,000SubscribersSubscribe

Latest Articles