Homeटीवी सीरियलगुम है किसी के प्यार में,4 अक्टूबर 2021 का लिखित अपडेट हिंदी...

गुम है किसी के प्यार में,4 अक्टूबर 2021 का लिखित अपडेट हिंदी में

गुम है किसी के प्यार में,4 अक्टूबर 2021 के एपिसोड की शुरुआत होती है, भवानी–सम्राट से कहती है,कि सईं एक अच्छा इंसान नहीं है और उसे पाखी की खुशी से जलन होती है। अश्विनी का कहना है,कि सईं के चले जाने से अब सभी को खुश होना चाहिए। सम्राट–अश्विनी को सांत्वना देता है।

शिवानी का कहना है,कि भवानी सही है क्योंकि सईं ने इस घर में बहुत सारे अपराध किए हैं। वह कहती है,कि उसने सभी को खुश रखने की कोशिश की, उसने अपने ससुर के लिए छात्रवृत्ति के पैसे से हारमोनियम खरीदा, उसने विराट का स्थानांतरण रोक दिया। शिवानी कहती हैं, कि अगर विराट का ट्रांसफर नहीं रुका होता तो विराट और सम्राट में सुलह नहीं होती। वह कहती है,कि सईं को सम्राट वापस मिल गया। वह कहती है,कि ये बड़े अपराध हैं, लेकिन वह बहुत से छोटे अपराधों की गिनती कर सकती है।

भवानी का कहना है,कि जैसे ही कोई सईं के बारे में कुछ भी कहता है, शिवानी गुस्सा हो जाती है। शिवानी कहती हैं कि वे सभी सईं की गलतियों को देखते हैं। विराट ताना मारते हैं कि शिवानी के मुताबिक सईं ने कभी कोई गलती नहीं की। शिवानी उसे एक उदाहरण बताने के लिए कहती है जहां गलती केवल सईं की थी किसी और की नहीं। अश्विनी उन्हें चुप रहने और सईं को खोजने की कोशिश करने के लिए कहती है।

पुलकित सईं के डॉक्टर से बात करता है। डॉक्टर उसे बताता है,कि सई गंभीर रूप से घायल है।

अश्विनी ने विराट से सई के जाने का जश्न मनाने के लिए मिठाई लाने को कहा। सम्राट उसे सांत्वना देता है और कहता है,कि वे सईं को ढूंढ लेंगे। निनाद का कहना है,कि वह सिर्फ उसे उकसा रही है। सम्राट का कहना है,कि अश्विनी सईं के जाने से दुखी हैं लेकिन अन्य लोग जश्न नहीं मनाना चाहते। सम्राट–विराट को अपने साथ आने के लिए कहता है लेकिन वह कहता है,कि नहीं। विराट का कहना है,कि सईं ने वही किया जो वह करना चाहती थीं। विराट का कहना है,कि उन्होंने इस घर में सईं को सहज करने की हर संभव कोशिश की, लेकिन वह उनकी किसी भी कोशिश को नहीं देखना चाहतीं। वह कहती है,कि यह अच्छा है,कि वह चली गई और वे उसे जहां चाहें वहां रहने दें।

सम्राट का कहना है,कि विराट उसके साथ रहने के बावजूद सई को समझ नहीं पाए। वह कहता है,कि अगर वह जानता है,कि उसने यह परिवार क्यों छोड़ा। उनका कहना है,कि उन्होंने कभी उम्मीद नहीं की थी कि सई उनकी लड़ाई के कारण चले जाएंगे। सम्राट का कहना है,कि वह सईं के कारण ही इस घर में वापस आया था और वह कभी वापस नहीं आएगा अगर उसने उसे बहुत सी चीजें याद नहीं की थीं जो वह भूल गया था। उनका कहना है,कि अगर सईं यहां नहीं हैं तो वह इस घर में नहीं रह सकते।

पाखी–सम्राट को याद दिलाती है,कि वह उसकी पत्नी है और वह उसका अपमान कर रहा है। वह पूछती है,कि क्या उनका रिश्ता सई के इस घर में रहने पर निर्भर करता है। सम्राट का कहना है,कि उसे यह स्वीकार करना होगा कि सईं ने ही उनके रिश्ते को संभव बनाया है। निनाद, ओंकार, सोनाली का कहना है,कि पाखी सईं के जाने के लिए जिम्मेदार नहीं हैं और अगर वे नहीं चाहते हैं तो वे उसे रहने के लिए मजबूर नहीं कर सकते।

सम्राट उनसे पूछता है,कि क्या सईं ने कभी उनमें से किसी का भला नहीं किया। वह विराट से पूछते हैं कि क्या सईं के बारे में इन सभी कड़वे शब्दों का उन पर असर नहीं होता है। विराट–सम्राट से कहता है,कि वह उससे कुछ न पूछे और कहता है,कि वह अब सईं से बात नहीं करना चाहता। सम्राट कहता है,कि अगर विराट खुश है,कि सई ने उसे छोड़ दिया है और अगर पाखी उसकी खुशी का कारण है।

यह सुनकर विराट और पाखी हैरान रह जाते हैं। सम्राट का कहना है,कि सईं चाहते थे कि वह और पाखी अपने जीवन को नए सिरे से शुरू करें, लेकिन विराट क्या चाहते थे। विराट उसे रुकने और गलत न समझने के लिए कहता है। विराट कहते हैं कि उनके और पाखी के बीच कुछ भी नहीं है। उनका कहना है,कि कई लोगों ने सईं के लिए उनकी भावनाओं को गलत समझा है, यहां तक ​​कि खुद सईं को भी।

शिवानी कहती है,कि यह अच्छा है,कि सईं चले गए और सम्राट को भी महाबलेश्वर वापस जाना चाहिए। विराट कहते हैं कि उन्होंने क्या किया। भवानी शिवानी से कहती है,कि सईं की गलतियों के लिए विराट को दोष न दें। ओंकार कहते हैं कि विराट क्या कर सकते थे अगर सईं ने कभी कुछ नहीं कहा।

सम्राट–विराट से पूछता है,कि क्या उसने कभी सईं को अपनी भावनाओं के बारे में बताया। विराट कहते हैं कि वह एक ट्रांसफर लेना चाहते हैं और चले जाना चाहते हैं। सम्राट उसे धक्का देता है तो विराट कहता है,कि अगर सम्राट चाहता है,कि वह आत्महत्या कर ले। पाखी विराट से कहती है,कि वह दोबारा कभी ऐसे शब्द न बोले। हर कोई हैरान होता है। आज का एपिसोड यहीं समाप्त होता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

अखिलेश जैन on अहं! रंगमंचास्मि।