गौरखास
छात्र नेता मनीष ओझा के नेतृत्व में धरना देते हुए

25 जनवरी को गोरखपुर जिले के गगहा ब्लॉक के ग्राम सभा गौर खास के ग्राम पंचायत प्रधान विनोद सिंह, ग्राम सचिव संदीप नायक, खंड विकास अधिकारी सुनील कौशल के विरूद्ध धरना प्रदर्शन विकास भवन गोरखपुर पर किया गया। ग्राम प्रधान और ग्राम सचिव तथा बीडीओ द्वारा ग्राम के विकास हेतु आए हुए सरकारी रुपयों का दुरुपयोग एवं बंदरबांट किया गया है जिसके खिलाफ आज 2 सूत्रीय मांग पत्र मुख्य विकास अधिकारी गोरखपुर को सौंपा गया और चेतावनी दी गई कि यदि जल्द से जल्द ग्राम प्रधान,ग्राम सचिव, खंड विकास अधिकारी(बीडीओ) के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही नहीं की गई और यदि ग्राम की जो मूलभूत समस्याएं और जरूरतें है उन्हें पूरा नहीं किया गया तो हम अनिश्चितकालीन धरना देने को बाध्य होंगे।

बहर हाल हम आपको बता दें कि ग्राम सभा गौरखास के निवासी अमित सिंह ने साल 2019 में जिलाधिकारी महोदय से शपथ पत्र लगाकर,ग्राम प्रधान द्वारा किए गए सभी कार्यों की जांच की मांग की थी। उन्होंने नाली, खड़ंजा, शौचालय, आवास, आरसीसी, स्ट्रीट लाइट, हैंडपंप, गौशाला इन सभी की पूर्ण रूप से जांच करवाने की मांग की थी। जिस पर जिलाधिकारी महोदय ने 8 जनवरी 2019 को ही इस पर जिलापूर्ति अधिकारी को जांच करने का आदेश दिया था और जांच रिपोर्ट की मांग की थी लेकिन जांच अधिकारी भी सरकारी धन के बंदर बांट करके फाइल दबा लिए और ग्रामीण धरना देने के लिए मजबूर हो गए।

छात्र नेता मनीष ओझा और भावी प्रत्याशी अमित सिंह के नेतृत्व में किया गया धरना प्रदर्शन

इस धरना प्रदर्शन को सफल बनाने और अपनी मांगो को पूर्ण कराने के लिए समस्त ग्रामीणों ने तो महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ही,लेकिन छात्र नेता मनीष ओझा, शिकायतकर्ता अमित सिंह, प्रतीक त्रिपाठी, शुभम त्रिपाठी, सूरत सिंह, सूबेदार सिंह, आनंद सिंह, चंद्र भूषण सिंह दीपू, प्रमोद सिंह, अखिलेश, जितेंद्र, रणधीर सिंह, आदित्य यादव, सुमित यादव, पवन गोस्वामी ओम आदी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.