तेरा मेरा साथ रहे

धारावाहिक “तेरा मेरा साथ रहे” में हमने देखा कि,प्रिया–मिथिला पर यह सोचकर हमला करती है,कि मिथिला ही ब्लैकमेलर है, बाद में प्रिया को पता चलता है,कि मिथिला वह ब्लैकमेलर नहीं है। उसके बाद प्रिया आश्चर्य करती है,कि इस सब के पीछे कौन है? जिसने मुझे ब्लैकमेलर है। बाद में गोपिका की इस बात ने प्रिया और उसके चाचा को झकझोर कर रख दिया। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि प्रिया ब्लैकमेलर को खोजने के लिए क्या कदम उठाती है? प्रिया का ब्लैकमेलर कौन है? क्या प्रिया के चाचा की हरकतों के बारे में जानेंगे मोदी?

वर्तमान ट्रैक में यह दिखाया गया है,कि प्रिया सक्षम को रोकती है और उसे बताती है,कि उसका व्यवहार उसे भ्रमित कर रहा है क्योंकि उसने कहा था कि उसे पिछली रात गोपिका पसंद नहीं है लेकिन अब खुशी से उसके साथ लड्डू बना रही है। वह उनके गले लगने के बारे में भी बात करती है। सक्षम बताता है,कि वे दोनों दोस्त हैं इसलिए एक दूसरे को गले लगाना सामान्य है। वह यह भी बताता है,कि वह जानता है,कि वह और गोपिका संगत नहीं है, लेकिन गोपिका एक पत्नी के रूप में अपना कर्तव्य निभा रही है इसलिए वह भी अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करेगा। फिर प्रिया गोपिका से मिलती है जो उससे कहती है,कि वह उससे पिछली रात के बारे में बात करेगी। गोपिका मिथिला के पास जाती है जो सक्षम के प्रयासों को देखकर गोपिका के साथ अपनी खुशी साझा करती है, उसे सलाह भी देती है,कि उनके बीच किसी तीसरे व्यक्ति को न आने दें। गोपिका ने उसे आश्वासन दिया। प्रिया को फिर से एक पत्र मिलता है, इसलिए वह अपने चाचा से मिलती है जो उसे बताता है,कि यह वह नहीं है इसलिए वह अपने ब्लैकमेलर से मिलने जाने का फैसला करती है। वह ब्लैकमेलर की प्रतीक्षा करती है और मिथिला पर पीछे से हमला करती है जब मिथिला स्टोर रूम में प्रवेश करती है। वह यह भी काम करती है,कि जब मोदी स्टोर रूम में प्रवेश करता है तो हमलावर से उसे चोट लग जाती है। गोपिका जिस तरह से अपनी मां की देखभाल करती है, उसे देखकर सक्षम खुश हो जाता है। फिर वह जो कुछ भी हुआ उसके लिए स्टेशन में शिकायत दर्ज करने का फैसला करता है। अगले दिन गोपिका प्रिया से भिड़ जाती है। पहले तो प्रिया सोचती है,कि वह सक्षम के प्रति अपने इरादों के बारे में बात कर रही है, लेकिन जब वह समझती है,कि वह अपने मामा जी के घर में चीजें चुराने की बात कर रही है तो उसे राहत मिलती है। उसके चाचा गोपिका को विश्वास दिलाते हैं कि वह ऐसा दोबारा नहीं करेगा इसलिए गोपिका अपने कामों के बारे में परिवार में किसी को नहीं बताने के लिए सहमत हो जाती है। गोपिका जिस तरह से अपनी मां की देखभाल करती है, उसे देखकर सक्षम खुश हो जाता है। फिर वह जो कुछ भी हुआ उसके लिए स्टेशन में शिकायत दर्ज करने का फैसला करता है। अगले दिन गोपिका प्रिया से भिड़ जाती है। पहले तो प्रिया सोचती है,कि वह सक्षम के प्रति अपने इरादों के बारे में बात कर रही है, लेकिन जब वह समझती है,कि वह अपने मामा जी के घर में चीजें चुराने की बात कर रही है तो उसे राहत मिलती है। उसके चाचा गोपिका को विश्वास दिलाते हैं कि वह ऐसा दोबारा नहीं करेगा इसलिए गोपिका अपने कामों के बारे में परिवार में किसी को नहीं बताने के लिए सहमत हो जाती है। गोपिका जिस तरह से अपनी मां की देखभाल करती है, उसे देखकर सक्षम खुश हो जाता है। फिर वह जो कुछ भी हुआ उसके लिए स्टेशन में शिकायत दर्ज करने का फैसला करता है। अगले दिन गोपिका प्रिया से भिड़ जाती है। पहले तो प्रिया सोचती है,कि वह सक्षम के प्रति अपने इरादों के बारे में बात कर रही है, लेकिन जब वह समझती है,कि वह अपने मामा जी के घर में चीजें चुराने की बात कर रही है तो उसे राहत मिलती है। उसके चाचा गोपिका को विश्वास दिलाते हैं कि वह ऐसा दोबारा नहीं करेगा इसलिए गोपिका अपने कामों के बारे में परिवार में किसी को नहीं बताने के लिए सहमत हो जाती है।

आने वाले एपिसोड में दिखाया जाएगा कि प्रिया को उसके ब्लैकमेलर का मैसेज आएगा। मिथिला पर हमला करने का उनका वीडियो देखकर वह चौंक जाएंगी। बाद में प्रिया मेमोरी कार्ड लेने की कोशिश करेगी लेकिन गोपिका उसे ढूंढकर सक्षम को दे देगी। सक्षम अपने लैपटॉप में डालेगा और चौंक जाएगा।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.