Homeटीवी सीरियलतेरा मेरा साथ रहे,20 सितंबर के एपिसोड का लिखित अपडेट हिंदी

तेरा मेरा साथ रहे,20 सितंबर के एपिसोड का लिखित अपडेट हिंदी

तेरा मेरा साथ रहे,20 सितंबर के एपिसोड की शुरुआत होती है, गोपिका भगवान श्रीकृष्ण से प्रार्थना करते हुए कहती है,कि वह बहुत अच्छे मोदक बनाएगी। आशी आती है, और सॉरी कहती है,कि वह हैश ब्राउन और चीला के बीच भ्रमित हो गई और फिर उसने उन्हें उठाया और सभी को परोसा। गोपिका कहती है,कि उसे बुरा लगा और समझ नहीं पा रही थी कि उसने उसके साथ ऐसा क्यों किया। वह कहती है,कि वह बहुत अच्छे मोदक बनाकर मिथिला को खुश कर देगी। आशी कहती है,कि वह मोदक निकाल लेगी। गोपिका आशी से कहती है,कि वह अपना मोदक शुरू करे और उसकी मदद न करे।

रमीला,हितेन को बाजार से 50 मोदक खरीदने के लिए कहती है। हितेन ठीक से सुन नहीं पाता। तेजल वीजेब्लॉग्स से मिलने जाते हैं। वह एक डांस वीडियो रिकॉर्ड कर रहा है। वह हकदार होने के लिए तेजल का अपमान करता है। तेजल कहते हैं,कि उनके सभी अनुयायी इसलिए हैं क्योंकि वह उनके बारे में लिखते हैं। वीजे ने उसे इग्नोर किया और स्कूटी पर बैठ गया। वह उस स्कूटी को फेंक देती है। हितेन दौड़ता हुआ आता है और कहता है,कि स्कूटी उसकी है। वीजे उसे मरम्मत कराने के लिए कुछ पैसे देता है और चला जाता है। तेजल हैरान है।

हितेन रमीला को पैकेज देता है और वह मोदी के घर चली जाती है। मिथिला उससे पूछती है,कि वह सुबह-सुबह वहां क्या कर रही है। रमीला का कहना है,कि उन्हें अपनी बेटियों की याद आ रही थी। मीनल कहती है,कि वह कभी भी आ सकती है। मिथिला कहती है,कि यह उसकी बेटी का ससुराल है, इसलिए उसे बिन बुलाए नहीं आना चाहिए। मीनल उसे रसोई में आशी से मिलने के लिए कहती है। मिथिला रमीला से उसे दिखाने के लिए कहती है,कि बैग में क्या है जिसे वह छुपा रही है। रमीला कहती है,कि यह उसका खाना है क्योंकि वह अपनी बेटी के ससुराल में नहीं खाती है। मिथिला कहती है,कि उसे गोपिका को परेशान नहीं करना चाहिए क्योंकि वह मोदक बना रही है।

रमिला आशी को बैग देती है। आशी डिब्बा खोलती है और मोदक की जगह मोमोज हैं। आशी कहती है,कि अब उसे घर से बाहर निकाल दिया जाएगा। रमीला गोपिका के मोदक को देखती है। आशी का कहना है,कि गोपिका आज साझा नहीं करने जा रही है। रमीला कहती है,कि वह अपना मोदक इस तरह लेगी कि उन दोनों को कोई नुकसान नहीं होगा।

तेरा मेरा साथ रहे

गणपति बप्पा घर आ जाओ। गणपति जी का सभी स्वागत करते हैं। मिथिला आशी और गोपिका को अपना मोदक लाने के लिए कहती है। गोपिका अपने मोदक को कपड़े से ढँक कर लाती है और उन्हें मेज पर रख देती है। रमिला आशी से कहती है,कि वह अपनी थाली भी टेबल पर रख दे। रमीला का कहना है,कि उन्हें अपनी दोनों बेटियों पर बहुत गर्व है। वह कहती हैं,कि आशी ने मोदक बनाने में बहुत मेहनत की है। गोपिका मिथिला को बताती है,कि उसने 50 मोदक बनाए हैं। मिथिला आशी की थाली का कपड़ा उठाने ही वाली होती है,कि रमीला पंडित जी से पूजा शुरू करने के लिए कहती है।

पूजा शुरू हो जाती है उसके बाद सक्षम और गोपिका एक साथ आरती करते हैं। सक्षम, गोपिका को दीपक को छूने नहीं देता और उसे बुरा लगता है। रमीला कुछ करने की कोशिश करती है, लेकिन गोपिका उसके मोदक देखती है। गोपिका पूजा के लिए अपनी आँखें बंद कर लेती है और रमिला प्रसाद की प्लेटों को बदलने के लिए मेज घुमाती है। पंडित जी मोदक मांगते हैं।

आशी अपनी थाली लाती है लेकिन मिथिला उसे रोक देती है और कहती है,कि वह भूल गई कि बड़ी बहू को पहले ऐसा करना चाहिए। गोपिका, पंडित जी को थाली देती है। रमीला और आशी चिंतित हैं। पंडित जी कपड़ा उठाते हैं और वहां मोमोज देखते हैं। गोपिका चौंक जाती है और सोचती है,कि उसके मोदक में धनिया के पत्ते कैसे आ गए। आज के एपिसोड की समाप्ति होती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

अखिलेश जैन on अहं! रंगमंचास्मि।