Homeटीवी सीरियलतेरा मेरा साथ रहे,5 अक्टूबर 2021 के एपिसोड का लिखित अपडेट हिंदी...

तेरा मेरा साथ रहे,5 अक्टूबर 2021 के एपिसोड का लिखित अपडेट हिंदी में

तेरा मेरा साथ रहे,5 अक्टूबर 2021 के एपिसोड की शुरुआत होती है, माता रानी का ताज गिरने वाला होता है लेकिन गोपिका इसका साथ देती हैं। गोपिका सक्षम को हीरे के बारे में अपने ज्ञान के बारे में बताती है। सक्षम और चिराग हैरान हैं,कि वह इतना कुछ जानती है।

मिथिला–उमा को गंगाजल से हाथ धोने और फिर देवी मां के लिए दीया जलाने के लिए कहती है। उमा अपनी बहू को इस बार जीतने के लिए कहती है। मिथिला गोपिका को दिया की रक्षा करने के लिए कहती है जैसे वह अपने नए परिवार की रक्षा करेगी। वह कहती है,कि वह जानती है,कि गोपिका उपवास कर रही है और यह बहुत कठिन है।

आशी का कहना है,कि वह इस प्रतियोगिता को आसानी से जीत सकती हैं और उन्हें पूरी रात घर के काम करने की आदत है। रमीला का कहना है,कि उनका उद्देश्य उसकी सच्चाई को सामने लाना है। उसने गंगाजल को एक रसायन के समान बोतल में डाल दिया। वह कहती है,कि जब वह गलत बोतल का इस्तेमाल करती है, तो मिथिला और अन्य लोगों को पता चल जाएगा कि उसे अंग्रेजी नहीं आती है।

उमा–मिथिला से कहती हैं,कि इस बार भी पिछले राउंड की तरह धोखा न दें। वह कहती है,कि गोपिका ने नियमों के खिलाफ एक जीवित असुर का इस्तेमाल किया। मिथिला कहती हैं,कि सजावट का मतलब लीक से हटकर सोचना है। मीनल और बा मिथिला को उमा से बात न करने के लिए कहते हैं। बा उसे बहुत ज्यादा जीतने की चिंता न करने के लिए कहती है, क्योंकि शिक्षा और चुनौती ही सब कुछ नहीं है। मिथिला कहती हैं,कि उनका उद्देश्य सक्षम के लिए एक शिक्षित और बहादुर पत्नी लाना था। वह कहती है,कि गोपिका में वह हर गुण है जो वह चाहती थी। बा को याद है,कि गोपिका ने उससे क्या कहा था और सोचती है,कि गोपिका मिथिला की इच्छा के विपरीत है। बा देवी माँ से प्रार्थना करती है,कि उन्हें कुछ संकेत दें वरना उन्हें मिथिला को सच बताना होगा।

रमीला और आशी गोपिका के पास आते हैं। वे उसे सोने नहीं के लिए कहते हैं। गोपिका बताती हैं,कि रमिला जब भी सोती थीं तो उन्हें हर बार हेयरपिन से पोक करती थीं, इसलिए वह उसी का इस्तेमाल कर रही हैं। रमीला उससे कहती है,कि वह यह बात किसी को न बताए। गोपिका कहती है,कि उसे अपने परिवार के लिए यह प्रतियोगिता जीतनी है। आशी गंगाजल की बोतल को केमिकल से बदल देती है। गोपिका भावुक हो जाती है,कि वह इस परिवार की शुक्रगुजार है। आशी और रमीला वहाँ से चली जाती हैं।

गोपिका और अन्य लोग दिया को जलाते रहते हैं। सक्षम गोपिका के पास आता है। वह उसके लिए जूस लाता है। गोपिका ने धन्यवाद ज्ञापित किया। वह देखता है,कि अन्य सभी के पास शॉल हैं जबकि गोपिका के पास नहीं है। वह कहता है,कि वह उसके लिए एक कंबल लाएगा, लेकिन गोपिका कहती है,कि उसे इसकी आवश्यकता नहीं है। वह अपनी जैकेट गोपिका को देता है।

बाकी सभी बहू रात में सो जाते हैं, लेकिन गोपिका जागती रहती है। वह सोचती है,कि सभी दिया देवी माँ के लिए हैं और उन्हें उन्हें भी बुझने नहीं देना चाहिए। बा और मिथिला पंडाल पहुंचते हैं। बा मिथिला को सच बताने वाले हैं जब उमा कहती हैं,कि गोपिका अयोग्य है। उमा का कहना है,कि गोपिका चित्रांशी के दिया के पास है जो नियमों के खिलाफ है। मिथिला उससे पूछती है,कि वह वहां क्या कर रही है। गोपिका कहती है,कि उसने देखा कि सभी को नींद आ रही थी और तेल भी खत्म हो रहा था, इसलिए वह नहीं चाहती थी कि उनका दिया बुझ जाए।

उमा कहती हैं,कि जो भी कारण हो, नियम स्पष्ट हैं। बाहुओं का कहना है,कि गोपिका का दिल बड़ा है और वही असली विजेता है। जजों का कहना है,कि गोपिका ने जो किया है उसके सामने कुछ भी मायने नहीं रखता और वह विजेता है। वह कहती है,कि गोपिका माता रानी की दीया जलाएगी। मिथिला बहुत प्रसन्न होती है और गोपिका को आशीर्वाद देती है। रमीला का कहना है,कि अब गोपिका का सच सामने आएगा। आज का एपिसोड समाप्त हो जाता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

अखिलेश जैन on अहं! रंगमंचास्मि।