Home टीवी सीरियल प्रतिज्ञा 2: 1 अप्रैल के एपिसोड को पूरी कहानी हिंदी में लिखित...

प्रतिज्ञा 2: 1 अप्रैल के एपिसोड को पूरी कहानी हिंदी में लिखित अपडेट के साथ || Pratigya 2,1 April Episode Written Update In Hindi

0
50
प्रतिज्ञा 2

प्रतिज्ञा 2: के आज के एपिसोड की पूरी कहानी पढ़े,टीवी पर प्रसारित होने से पहले ही, क्या कृष्णा राधे के घर उसके परिवार से मिलने जाएगा? शक्ति के बेटे समर से क्या गलती हुई? सज्जन सिंह के बंदूक उठाने पर प्रतिज्ञा का कैसा रिएक्शन रहा? कृति ने अपने आप को कमरे के क्यों बंद कर लिया? बलवंत त्यागी ने अपनी पत्नी को क्यों पीटा? जाने एपिसोड की पूरी कहानी

प्रतिज्ञा 2: 1 अप्रैल के एपिसोड की पूरी कहानी हिंदी में || Pratigya 2, 1 April Episode Written Update In Hindi

एपिसोड की कहानी की शुरुआत सज्जन सिंह के घर के अंदर हाल से शुरू होती है,जहां सभी सदस्यों के बीच प्रतिज्ञा सज्जन सिंह को बंदूक उठाने पर डांट रही होती है। इस पर कृष्णा सज्जन सिंह के इस व्यवहार पर उसका समर्थन करता है,लेकिन सज्जन सिंह अपनी गलती का एहसास करके प्रतिज्ञा से माफी मांगता है। कृष्णा, प्रतिज्ञा के इस बात पर विरोध करता है। कृष्णा शक्ति का समर्थन करता है। शक्ति इस बात से अचरज में पड़ जाता है,की कृष्णा अपनी बीवी को छोड़कर मेरा समर्थन कर रहा है। उसके बाद प्रतिज्ञा कृष्णा को अपने मान सम्मान की रक्षा करने के लिए कानून का सहारा लेने की बात समझाती है,लेकिन कृष्णा गुस्सा होकर वहां से चला जाता है।

अगले दृश्य में बलवंत त्यागी के घर को दिखाया गया है,जहां धरा की पत्नी झाड़ू लगा रही होती है और थोड़ी सुस्त होती है,इस पर बलवंत त्यागी की पत्नी उसे डांटती है,और काम तेज करने को कहती है। धरा की पत्नी कहती है,की मेरी तबियत थोड़ी खराब है,लेकिन बलवंत की पत्नी, उसे काम करने को कहती है। थोड़ी देर बाद बलवंत त्यागी धरा के साथ घर में प्रवेश करता है,तभी बलवंत के सामने उसकी पत्नी दारू की बोतल नीचे फेंक देती है। उससे कहती है,की सुना है की आपके मैडम जी के जेठ ही हमारे बालक के हत्यारे है। इस पर सज्जन सिंह बिल्कुल गुस्सा हो जाते है। बलवंत की बीवी प्रतिज्ञा की और बुराई करने लगती है,जिसपर वह गुस्सा होकर उसे ही धमकाने लगता है और वह उसके मुंह को पकड़ कर सोफे पर फेंक देता है,और बिना मांगे सलाह ना देने ले नसीहत देता है,और ऐसा ना करने पर उसे ही मारने को धमकी दे डालता है।  फिर कहता है,की यदि प्रतिज्ञा यह सब अपने परिवार को बचाने के लिए कर रही है,तो हम उसको भी जला देंगे।

फिर सज्जन सिंह के घर का दृश्य कृति स्कूल से आती है,फिर वह सज्जन सिंह के पास बंदूक देखकर चिढ़ जाती है,और वह इस बात पर गुस्सा होकर अपने – आप को कमरे में बंद कर लेती है,प्रतिज्ञा उसे बुलाती है,मगर वह दरवाजा नहीं खोलती है। थोड़ी देर बाद प्रतिज्ञा को फोन आता है,जो समर के स्कूल से होता है,और प्रतिज्ञा को अगले दिन स्कूल बुलाया जाता है। समर को देखकर प्रतिज्ञा उससे उसकी गलती पूछने जाती है,जिसपर समर कुछ नही बोलता है,शक्ति अपने बेटे का पक्ष लेता है,और प्रतिज्ञा को कुछ नही पूछने को बोलता है। फिर सज्जन सिंह उसे डांटते है,कुछ देर बाद सज्जन सिंह भी गलती पूछते है,लेकिन समर कुछ नही बताता है,और खाना खाने के लिया भागता है,लेकिन सज्जन उसे रोककर गलती बताने को बोलता है,नहीं तो गलती पता चलने पर भरी सजा को धमकी दे देता है।

फिर प्रतिज्ञा सज्जन से कहती है,कल स्कूल जाकर इसकी गलती का पता कर लेंगे।

अगले दृश्य में पैसे से भरा हुआ बैग लेकर कृष्णा राधे के घर जाता है,वह दरवाजा खटखटाना चाहता है,लेकिन खट खटा नहीं पाता है,और पीछे हट जाता है।

इधर सज्जन सिंह के घर में सभी खाना खा रहे होते है,फिर कृति भी निराश मन से खान खाने आती है,और प्रतिज्ञा से गुस्सा होने का संकेत दिखाती है,फिर प्रतिज्ञा और केसर भी डाइनिंग टेबल पर बैठते है,जिसपर शक्ति गुस्सा होकर खाना छोड़कर चला जाता है,और केसर भी उसके पीछे जाने लगती है।

केसर शक्ति को समझाती है,लेकिन शक्ति केसर की एक नहीं सुनता है,और कहता है,की प्रतिज्ञा कुछ भी सही नही कर रही है,वह मुझे फूटे आंखों से भी नहीं भाती है,और तुम प्रतिज्ञा – प्रतिज्ञा  करती रहती हो। केसर शक्ति से कहती है,की प्रतिज्ञा समर के हो भलाई की बात करती है,इस बात पर शक्ति केसर पर बिल्कुल गुस्सा हो जाता है,और उसे कमरे के बाहर जाने को बोल देता है।

इधर कृष्णा हिम्मत करके राधे के घर का दरवाजा खटखटाता है,और पैसों से भरा बैग नीचे रखकर पीछे छुप जाता है। राधे की पत्नी सफेद साड़ी पहने हुए,गोद के बच्ची को लेकर आती है,तथा किसी को नहीं देखती है,नीचे बैग को देखती है और खोलती है,तो पैसों को देखकर रोने लगती है,और कहती की कौन है,जो मेरे पति को जान लेने के बाद हमदर्दी दिखा रहा है,मेरे बच्ची के बाप को छीन लेने के बाद हमदर्दी दिखा रहा है और रोने लगती है। कृष्णा दीवार के पीछे छिपकर रोने लगता है।

अगले दृश्य में शक्ति अपने कमरे में बैठकर बड़बडा रहा होता है,तभी समर और गिरीश वहा पहुंचते है,शक्ति उन्हे रोककर समर से पूछता है,की तुमने कौन सी गलती की है? जिस पर मुझे खरी खोटी सुनने को मिल रही है। समर कुछ नही बोलता है,शक्ति उसे मारने के लिए जाता है तभी समर उसे रोक लेता है और कहता है,की बाबूजी यदि आपने मुझे मारा तो हम आपकी कोई मदद नहीं कर पाएंगे। इन सारे जुल्मों से हम ही आपका पीछा छुड़ा सकते है। यहीं पर इस एपिसोड का अंत हो जाता है।

अगली कड़ी में – बलवंत त्यागी को लगता है,की मेरे बेटे की मौत में,सज्जन सिंह के परिवार को कोई न कोई कनेक्शन जरूर है। दूसरी तरफ समर शक्ति को बताता है,की बलवंत त्यागी के बेटे का खून हमारे घर के ही किसी सदस्य ने किया है। वहीं कृष्णा शराब पीकर घर में कदम रखता है,जिसपर सज्जन सिंह सोच में पड़ जाते है,की कृष्णा ने पूरे नौ साल के बाद शराब पी है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here