प्रतिज्ञा 2
Pratigya 2 Written Update In Hindi

प्रतिज्ञा 2 : एपिसोड की शुरुआत में कृष्णा अपने कमरे में आए और देखा कि गर्व कमरे में सो रहा है। उसने प्रतिज्ञा से पूछा कि वह यहाँ क्यों सो रहा है? प्रतिज्ञा ने उससे कहा कि आज वह थोड़ा परेशान था इसलिए उसने उसे यहां सुला दिया। कृष्णा ने एक तकिया लिया और फर्श पर बैठ गए। प्रतिज्ञा उससे पूछती है,कि यह किस प्रकार का व्यवहार है? कृष्णा कहते हैं,कि वह इस विषय पर बात नहीं करना चाहते हैं इसलिए उन्हें शांति से सोने दें। वह एक तकिया भी लाती है और कृष्णा के पास सो जाती है।

जब आदर्श सो रहा था तब कोमल ने अपने पति के उपर पानी फेंका। आदर्श जल्दी से उठ गया और अपनी पत्नी कोमल को डांटने लगा। वह कहती है,कि वह भाग्यशाली महसूस कर रही है क्योंकि वह गटर का पानी फेंकने को तैयार थी। कोमल ने उससे कहा कि वह दूसरी लड़कियों को लाकर उसे परेशान करता है तो अब वह भी उसे चैन से सोने नहीं देगी। तभी आदर्श वहां से चला गया।

केसर,कृति को कुछ खाने के लिए कह रही थी, क्योंकि राखी बांधने से पहले आपके लिए कुछ भी खाना जरूरी नहीं है। अचानक सुमित्रा अपनी बेटी कोमल के पास आई और उससे पूछा कि वह राखी कैसे मना सकती है क्योंकि कुछ दिन पहले उसके भाई की मृत्यु हो गई थी। कोमल ने अपनी मां को बताया कि उसका एक और भाई है। सुमित्रा ताना मारते हुए कहती है,कि जिसने अपने बड़े भाई को मार डाला।

प्रतिज्ञा ने गर्व को परेशान होते देखा। वह उसे तैयार होने के लिए कहती है क्योंकि कृति राखी बांधने का इंतजार कर रही है। तब उसने उसे बताया कि उसके पिता उसके लिए एक सुंदर कुर्ता लाए हैं। यह सुनकर गर्व खुश हो जाता है। बाद में समर ने कृति से राखी लेने से इनकार कर दिया। प्रतिज्ञा ने उससे कहा कि यह ठीक है लेकिन एक दिन वह उसी के लिए दोषी महसूस करेगा। तब वह गर्व को राखी बांधने वाली थी लेकिन सुमिता ने थाली फेंक दी। उसने उन्हें बताया कि गर्व इस परिवार का सदस्य नहीं है इसलिए वह उसे राखी नहीं बांधेगी। प्रतिज्ञा उसे समझाने की कोशिश करती है,कि वह बच्चे के सामने ऐसी हरकत न करे लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी।

प्रतिज्ञा 2

कृति रोती है और कृष्णाा से कुछ करने का अनुरोध करती है क्योंकि वह गर्व को राखी बांधना चाहती है। सुमित्रा ने उसे धमकी दी कि अगर वह राखी बांधेगी तो वह उसका हाथ तोड़ देगी। कृति ने साहसपूर्वक उनसे कहा कि वह उन्हें किसी भी कीमत पर राखी बांधेंगी। अचानक उन्होंने देखा कि गर्व वहां से गायब है। प्रतिज्ञा उसे खोजने गई लेकिन वह घर में नहीं था।

गर्व सड़कों के बीच चल रहा था। उसे सुमित्रा के कठोर वचन याद आ रहे थे। आदर्श समर और सुमित्रा से पूछ रहा था कि क्या उन्होंने उसे कुछ बताया है। कोमल सुमित्रा को बताती है,कि बच्चों के सामने ऐसी गंदगी करने की क्या जरूरत थी। सुमित्रा का कहना है,कि यह कर्म है क्योंकि बच्चों को अपने माता-पिता के बुरे काम के कारण भुगतना पड़ता है। उसने ताना मारते हुए उसे आदर्श के सामने नकली चिंता न दिखाने के लिए कहा क्योंकि एक दिन वह तुम्हें छोड़ देगा। केसर कृति से कह रहा था कि रोना मत। कोमल ने सुमित्रा से कहा कि अगर उसे डीएनए रिपोर्ट के पीछे उसकी साजिश का पता चलता है तो यह उसके लिए अच्छा नहीं होगा।

अगले एपिसोड़ में- गर्व का एक्सीडेंट हो जाता है। डॉक्टर ने उसके माता-पिता को रक्तदान करने के लिए कहा। कृष्णा ने प्रतिज्ञा से कहा कि जाओ और दान करो और वह यहां इंतजार कर रहा है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.