प्रतिज्ञा 2
Pratigya 2 Written Update In Hindi

प्रतिज्ञा 2,एपिसोड शुरु होता है, लंच टेबल पर प्रतिज्ञा,कृष्णा के पास बैठना चाहती है,लेकिन मीरा उससे पहले आकर कृष्णा के पास बैठ जाती है। मीरा, प्रतिज्ञा को खाना परोसने से मना करती है और वह उसे खाना परोसती हैं। वह कृष्णा को इंप्रेस करने के लिए यह सब करती है। तभी मीरा, प्रतिज्ञा से पूछती है, कि वह शादीशुदा है या नहीं। वह बताती हैं कि वह अभी भी अकेली रहती हैं। प्रतिज्ञा, कृष्णा से पूछती है, कि उसकी और मीरा की शादी कैसे हुई?  सुमित्रा उससे कहती है, कि वह बॉस हैं उसे सम्मान दो। तब कृष्णा, सुमित्रा से कहता हैं, कि वह उसे केवल कृष्णा कहने के लिए कहता हैं क्योंकि उसे वह पसंद है। कृष्णा कहता है,की मुझे अच्छा नहीं लगता, जब कोई उसे कृष्णा जी कहता है।

मीरा,कृष्णा से कहती है की लेकिन मैं भी आपको वैसे ही बुलाती हूं। कृष्णा कहता है, कि तुम हमारी पत्नी हो, इसलिए मुझे उससे कोई समस्या नहीं है और तुम्हे इसी तरह बुलाना चाहिए। तब सुमित्रा प्रतिज्ञा को बताती है कि कृष्णा और मीरा ने प्रेम विवाह किया था। कृष्णा उसके प्यार में पागल हो गया था। इसलिए उन्हें उसकी शादी मीरा से करनी पड़ी है। प्रतिज्ञा, मीरा को अपनी शादी का एल्बम दिखाने के लिए कहती है। कृष्णा कहता हैं, कि वह भी इसे देखना चाहता हैं क्योंकि कृष्णा कहता है,की मैंने एल्बम को पहले कभी नहीं देखा और साथ ही मैंने इस बारे में कभी नहीं सोचा।

तभी प्रतिज्ञा, गर्व को बैगन खाने मना कर देती है तथा कहती है, कि उसे बैगन से एलर्जी है। कृष्णा उससे पूछते हैं कि वह उसके भाई के बच्चे के बारे में कैसे जानती है? तब वह कहती है, कि चौंकिए मत, प्रतिज्ञा – कृष्णा से कहती है, कि वह उसका दोस्त है और उसे उसके बारे में सब कुछ पता होना चाहिए। सज्जन सिंह कृष्णा से कहते हैं कि उन्हें लगता है कि प्रतिज्ञा अच्छी लड़की नहीं है। कृष्णा का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है क्योंकि वह बहुत मासूम है। सुमित्रा परेशान हो जाती है, कि क्या होगा? यदि प्रतिज्ञा अपनी योजना में सफल हो जायेगी।

प्रतिज्ञा 2
Pratigya 2, Update

वह सोचती है कि अगर कृष्णा को उसके जीवन के बारे में सब कुछ याद आ गया तो प्रतिज्ञा फिर से उसके घर आएगी। वह सोचती है कि प्रतिज्ञा से छुटकारा पाने के लिए उसे कुछ करना होगा। फिर उसने प्रतिज्ञा से बदला लेने का फैसला किया। वह रसोई से मिट्टी का तेल लाती है और अपने कमरे में ताला लगा देती है। उसने कृष्णा को फ़ोन किया और कहा कि प्रतिज्ञा को समझने में उन्होंने गलती की है। वह उसे बताती है कि उसका दरवाजा उसके द्वारा बंद किया गया और उसने कमरे में आग लगा दी और घर में उसकी मदद करने वाला कोई नहीं है।

फिर कृष्णा दौड़ते हुए अपने घर चले जाते हैं। कृष्णा प्रतिज्ञा को फ़ोन करने की कोशिश करता है लेकिन उसने उसका फोन नहीं उठाया, तो कृष्णा सोचते हैं कि सुमित्रा सही है। प्रतिज्ञा ने देखा कि सुमित्रा के कमरे में आग लग गई है। जब कृष्णा वहां पहुंचते हैं तो देखते हैं कि प्रतिज्ञा उनकी मदद कर रही है। बाद में, जब प्रतिज्ञा उसे पानी देती है तो वह उसे फेंक देती है। वह प्रतिज्ञा पर उसकी हत्या के प्रयास का आरोप लगाती है। वह कृष्णा से कहती है कि प्रतिज्ञा उसके कमरे को बाहर से बंद कर देती है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.