प्रतिज्ञा 2
Pratigya 2 Written Update In Hindi

प्रतिज्ञा 2: एपिसोड की शुरुआत होते ही,कृष्णा को लेकर प्रतिज्ञा,कोमल,आदर्श,शक्ति ठकुराइन और समर उस फॉर्महाउस पर पंहुचते है,जहां कृष्णा के ठहरने की व्यवस्था को गई थी। सभी लोग आदर्श को भी ठहरने के लिए बोलते है। आदर्श सब की बात मानकर रहने के लिए तैयार हो जाता है। 

सभी लोग घर के अंदर जाते है। फिर ठकुराइन एक कमरे में बैठकर जूस बना रही होती है,तभी कोमल वहां पहुंचती है,और अपनी मां से प्रतिज्ञा को घर से बाहर निकालने का उपाय पूछती है लेकिन ठाकुराइन उसे कुछ नही बताती है। ठकुराइन उसे जूस और सूप देती है। जूस प्रतिज्ञा को और सूप कृष्णा को देने को कहती है। कोमल जूस और सूप लेकर कृष्णा और प्रतिज्ञा के पास आती है। वह कृष्णा को सूप और प्रतिज्ञा को जिस लेने को बोलती है,लेकिन कृष्णा सूप पीने से माना कर देता है,और जिस उठा लेता है। तभी ठकुराइन आकर कृष्णा से जूस का ग्लास छीन लेती है,और उसे जबरदस्ती सूप पीला देती है। कृष्णा को सूप पिलाने के बाद वह जूस का ग्लास लेकर प्रतिज्ञा को जूस पिलाती है तथापि उसे कृष्णा की हालत का जिम्मेदार मानते हुए उसने जो कुछ भी बुरा – भला कहा था,उसके लिए माफी भी मांगती है,फिर वहां से वह चली जाती है।

कुछ दूर आने पर कोमल अपनी मां से पूछती है,की तुम प्रतिज्ञा को घर से बाहर निकालने की बजाय खुद ही उसकी सेवा में लग गई हो। ठकुराइन कोमल को कहती है, की जो हम कर के आ रहे है,वह तुम कभी नही कर पाती,फिर एक पुड़िया दिखाते हुए कहती है,की हम उसकी जूस में इस पुड़िया का पाउडर मिला दिए है। कोमल पूछती है,की इस पुड़िया में क्या था? ठकुराइन उसे बताती है,की इस पुड़िया में जहर था। कोमल बिलकुल चौंक जाती है,और अपने मां को ऐसा करने पर डांटने लगती है,कोमल कहती है, की हमने प्रतिज्ञा को केवल कृष्णा भाई के जीवन से निकालने को कहा था,पूरी दुनिया से नहीं। यदि वह मर गई तो तुम्हारे साथ – साथ हम सब जेल जाएंगे। 

इधर दूसरी तरफ कृष्णा से बात करते हुए प्रतिज्ञा को चक्कर महसूस होता है,वह बाथरूम में दौड़ कर जाती है तथापि बाथरूम का दरवाजा बंद कर लेती है। धीरे – धीरे जहर की वजह से प्रतिज्ञा को तेजी से चक्कर आ जाता है,और वह बेहोश होकर बाथरूम में गिर जाती है। इधर कृष्णा बाहर से प्रतिज्ञा को पुकारता है,लेकिन प्रतिज्ञा जवाब नह देती है,जिसके कारण कृष्णा बिलकुल घबरा जाता है।

दूसरी तरफ ठकुराइन कोमल को इस जहर के रहस्य के बारे में बताने लगती है। ठकुराइन कोमल से कहती है,की कोई भी दिक्कत की बात नही है,शायद अब तक तुम अपने अम्मा को समझ नही पाई हो। जैसे प्रतिज्ञा ने हमारे परिवार को धीरे – धीरे अपनी गिरफ्त में लिया है,उसी प्रकार वह जहर प्रतिज्ञा को धीरे – धीरे मारेगा। जिससे किसी को भी इस बात की खबर नही लगेगी की प्रतिज्ञा की मौत जहर से हुई है,और कोई भी जेल नही जाएगा।

दूसरी तरफ प्रतिज्ञा को धीरे – धीरे होश आने लगता है,होश में आने के बाद प्रतिज्ञा बाहर से पुकार रहे कृष्णा को आवाज सुनती है,और 2 मिनट में बाहर आने का संदेश देती है। फिर बाहर आती है,कृष्णा प्रतिज्ञा से पूछने लगता है,की कोई दिक्कत है क्या?  लेकिन प्रतिज्ञा किसी प्रकार की भी समस्या होने से इंकार कर देती है।

इधर बगीचा में ठकुराइन कोमल को प्रतिज्ञा के घर से बाहर जाने के बाद कृष्णा की नई शादी कराने की बात कर रही होती है,तभी वहां शक्ति और समर आ जाते है। शक्ति अपनी अम्मा से पूछ पड़ता है,की क्या बातें हो रही है? ठकुराइन जवाब देती है,की हम कृष्णा की दूसरी शादी के बारे में बात कर रहे है। शक्ति हसने लगता है,और अपनी अम्मा को पागल कहता है। फिर ठकुराइन कहती है,की वह प्रतिज्ञा को कृष्णा की जिंदगी से उखाड़ फेंकेगी,जिसपर शक्ति बिल्कुल खुश हो जाता है। 

शक्ति फिर अपनी अम्मा से पूछने लगता है,की तुम्हे कैसी बहु चाहिए? ठकुराइन बताने लगती है,की हमे ऐसी बहु चाहिए जो सुंदर,सुशील और भोली हो,जो बाबा के इशारे पर नाचे,अपने इशारे पर उसे नचाए नहीं। इसी तरह से वह अपनी होने वाली बहु के बारे में बात कर रही होती है,तभी उसी बगीचे में एक लड़की आम तोड़ रही होती है और वहां बगीचे के रखवाले उसे देख लेते है। वह भागने लगती है,और बगीचे के रखवाले उसके पीछे दौड़ते है। वह दौड़ते हुए उस फॉर्महाउस के पास पंहुच जाती है,जहां प्रतिज्ञा अपने परिवार के साथ ठहरी हुई है। प्रतिज्ञा उस लड़की को भागते हुए देखती है,और रखवालों को पीछे दौड़ते देखती है। वह नीचे आती है। वह लड़की प्रतिज्ञा से टकरा जाती है,उसके आम गिर जाते है। प्रतिज्ञा और वह लड़की एक दूसरे को देखते है,और यहीं एपिसोड समाप्त हो जाता है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.