प्रतिज्ञा 2

प्रतिज्ञा 2: 24 मार्च के एपिसोड की पूरी कहानी,हिंदी में लिखित अपडेट के साथ

आज के एपिसोड की कहानी जलते हुए कार से होती है,जिसे देखकर बलवंत उसका भाई और तैनात सिपाही हैरान हो जाते है। फिर बलवंत के भाई को दौरा जैसा पड़ने लगता है,और वह सिपाही को कूटने लगता है। कृष्णा सिपाही को बचाने की सोचता है,लेकिन वह गर्व के बारे में सोचकर रुक जाता है,और वहां का दृश्य वहीं समाप्त हो जाता है।

अगली सुबह को सज्जन सिंह के घर का दृश्य दिखाया जाता है। जो होली के दिन कि सुबह होती है,समर और उसका भाई गिरीश होली खेल रहे होते है। सज्जन सिंह फाग के बारे में बताता है। फिर वह कृति से गर्व को बुलाने को कहता है। कृति गर्व को बुलाने के लिए जाती है।

अगले दृश्य में गर्व और कृष्णा एक साथ बैठे रहते है,कृष्णा गर्व को समझाता है और उसे चश्मा देता है। चश्मा पाकर गर्व एकदम खुश हो जाता है,तथा पहले की तरह दौड़ने लग जाता है,और वह अपने फेवरेट त्योहार को मनाने के लिए दौड़ उठता है। वह सबको रंग लगाने लगता है। सब लोग गर्व को देखकर बहुत खुश हो जाते है। फिर ठकुराइन प्रतिज्ञा के बारे में कृष्णा से पूछती है,और उसे बार बार बाहर जाने के लिए कृष्णा को उलाहना देती है।

दूसरी तरफ सज्जन सिंह और ठकुराइन बड़े रोमांटिक अंदाज़ में होते है,ठकुराइन सज्जन सिंह को होली विश करती है और सज्जन सिंह उसे आई लव यू बोलते है।

अगले दृश्य में प्रतिज्ञा थाने में होती है,और कार से संबंधित जानकारी पूछती है,तथापि वह इंस्पेक्टर को डांटती है। कार की रक्षा में तैनात सिपाही पूरे मामले की जानकारी देते हुए कहता है,की गाड़ी जलाने वाले को मैंने देखा तो उसका पीछा किया फिर वह मुझे मारने लगा,और घायल करके भाग गया। प्रतिज्ञा इंस्पेक्टर को समझाकर चली जाती है।

फिर बाहुबली के घर का दृश्य जहां बलवंत त्यागी की बीवी टीवी देख रही होती है,जिसमें उसके बेटे की खबर आ रही होती है। वह उसे देखकर और क्रोधित हो उठती है,फिर उसके बाद धारा की बीवी वहां आती है। जो चोट खाई होती है,बलवंत की पत्नी उसे डांटती है,की ऐसे हालात में भी उसने तुम्हे मारा,और एक बात और यदि इस बार भी बच्चा गिर गया या फिर लड़की पैदा हुई,तो फिर तुम घर छोड़कर चली जाना,और क्यूं धरा ने तुम्हे मारा? धरा को पत्नी जवाब देती है कि ऐक्सिडेंट वाली कार जल गई,जिसके कारण उन्हें दौरा पड़ा इसलिए उन्होंने मारा है। इस पर त्यागी की पत्नी एक दम चौंक जाती है। 

कार जलाने की खबर पाकर वह अपने पति बलवंत के पास आती है,और उसे बाहुबली होने की बात याद दिलाती है। उसे वह अपने पति को कानून पर भरोसा छोड़कर खुद बेटे के कातिल को सजा देने की बात करती है। उसे वह प्रतिज्ञा की याद धराते हुए कहती है,की वह मैडम अपने घर होली मना रही होगी,अपने परिवार के साथ और यहां हम अपने बेटे का गम मना रहे है,क्योंकि बेटा तो हमारा मरा है,इसलिए उसकी बातों में ना आइए। इस पर बलवंत गुस्सा हो जाता है,और प्रतिज्ञा के घर जाने का निश्चय करता है।

प्रतिज्ञा इधर घर पहुंचती है,जहां सज्जन सिंह उससे आज काम को छोड़कर होली खेलने की बात कहते है,और रंग लगाते है तभी कृष्णा वहां पहुंचता है,और होली खेलने की बात कहता है। प्रतिज्ञा अपने बेटे गर्व को खुश देखकर बहुत खुश होती है। कृष्णा प्रतिज्ञा से कहता है कि केस का क्या हुआ? प्रतिज्ञा केस बारे ने बताती है,की कार के अतिरिक्त भी अभी साबित है। आगे वह बात बताने ही वाली होती है तभी वहां पर ठकुराइन आती है और कृष्णा से भांग लाने की बात कहती है,कृष्णा भांग लाने जाता है। वहां कृति आती है,कृति से बातचीत प्रतिज्ञा करती है,उसी समय एपिसोड खत्म हो जाता है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.