25.1 C
Delhi
Sunday, August 1, 2021
ADVERTISEMENT

प्रतिज्ञा 2: 7 अप्रैल के एपिसोड 18 का लिखित सारांश || Pratigya 2, 7th April Episode Written Update In Hindi

प्रतिज्ञा 2: आज के एपिसोड की शुरुआत होती शक्ति परिवार के सभी लोगो को बता देता है,की गर्व द्वारा ही बलवंत की बेटे की मौत हो गई है। शक्ति उसके बाद सज्जन सिंह से पूछता है,की अब आप क्या करेंगे? अपनी बंदूक की गोली उतार दीजिए गर्व के सीने में या फिर इसे उस बलवंत त्यागी को सौंप दीजिए। कृष्णा शक्ति को शांत रहने को कहता है और गर्व की तरफ बढ़ रहे सज्जन सिंह को रोकने की कोशिश करता है। सज्जन कृष्णा के कारण नहीं रुकते है। उसके बाद वह गर्व से शक्ति द्वारा लगे इन आरोपों के बारें मे पूछते है। क्या वास्तव में तुम्हारा बलवंत के बेटे के केस से लेना – देना है। गर्व बिना कुछ बताए पैंट गीली कर देता है। उसके बाद कृष्णा गुस्से में आकर सबको बता देता है,की एक्सीडेंट हो गया गर्व से लेकिन इसने कुछ भी जान बूझकर नही किया है। इसी बीच शक्ति कृष्णा से कहता है,की तुम जैसे भाई को पाकर धन्य हो गया कोई कसर नहीं छोड़ा तुमने मुझे फसाने में,मेरा पूरा दिल खुश हो गया। कृष्णा शक्ति को शांत करता है। फिर

कृष्णा सज्जन सिंह से प्रतिक्रिया चाहता है,लेकिन कोई प्रतिक्रिया ना मिलने के कारण कृष्णा कहता है,हम अपने बेटे को अकेले लड़ के बचाएंगे।

कृष्णा सभी घरवालों से प्रतिक्रिया चाहता है,लेकिन सभी मौन खड़े होते है। कृष्णा घर के हाल में पड़े समान को इधर उधर फेंकता है,और तोड़ने की कोशिश करता है। थोड़ी देर बाद बैठ जाता है और कहता है,की कोई भी गर्व से संबंधित यह बात प्रतिज्ञा को नहीं बताएगा।

केसर कृष्णा से कहती है,की प्रतिज्ञा ही इस मुसीबत से हमे बचा सकती है वह गर्व पर कोई भी आंच नहीं आने देगी,वह उसकी मां है।

कृष्णा कहता है,नही वह कुछ नही समझेगी वह गर्व को आंच तो नही आने देगी लेकिन वह बलवंत त्यागी को पता चल जाएगा,तो फिर वह कुछ भी उल्टा सीधा कर देगा। वह प्रतिज्ञा के तरह कानून नही मानता है। उसे बस कातिल चाहिए। सज्जन इन बातो पर कृष्णा के उपर पानी फेंकते है। उसे चुप रहने को कहते है। उसके बाद सज्जन सिंह कहते है, की कोई भी इस बात को प्रतिज्ञा के नही बताएगा।

तभी वहां कृति दरवाजे पर खड़ी सभी बातों को सुन रही होती है। वह सारी बातें प्रतिज्ञा को बताने को कहती है। सभी घरवाले उसे ऐसा करने से मना करते है,लेकिन वह प्रतिज्ञा को बताने का निश्चय कर लेती है। गर्व अपनी बहन कृति के पैरो को पकड़ कर कहने लगता है,की आप प्लीज मम्मा को कुछ नही बताएंगी,नही तो वह जेल में डाल देंगी और मैं आप लोगो के पास रहना चाहता हूं। कृति भी गर्व को देखकर रो पड़ती है।

प्रतिज्ञा अपने खबरी से राधे की डिटेल ले रही होती है और उसके सारे फोन रिकॉर्ड और उसके फोन की लास्ट लोकेशन के बारे में उससे पूछती है।

दूसरी तरफ धरा राधे के बारे में खबर लाकर देता है,और कहता है, की सज्जन सिंह का कोई न कोई कनेक्शन इस मर्डर में जरूर है,क्योंकि राधे उनका बहुत पुराना वफादार आदमी था और वह वफादारी निभाने के लिए ही उस जुर्म को अपनाया जिसे उसने किया नही था। बलवंत धरा की बातो पर यकीन करके कहता है,शायद सज्जन सिंह हमे भटकाने की कोशिश कर रहे है,लेकिन वह जितना भटकाएंगे हम उनके उतना ही करीब पहुंच जाएंगे। राधे के बारे में पूरी जानकारी लेकर आओ आज सरेंडर करने से पहले किससे मिला था।

सज्जन सिंह गर्व को उठाते है,और कहते है तुम्हारा दादू अभी जिंदा है,तुम्हे कुछ नही होने देगा। सज्जन सिंह सभी घरवालों से कहता है,की कोई कुछ भी प्रतिज्ञा को नहीं बताएगा। यदि कोई ऐसा करता है,तो उसका इस घर में आखिरी दिन होगा। क्योंकि भनक भी लगी तो बलवंत केवल गर्व को ही नहीं,बल्कि पूरे परिवार को तहस नहस करने का प्रयास करेगा। शक्ति सिंह को भी बताते हुए कहता है,की तुम भी इस परिवार के सदस्य हो और तुम्हारे भी बच्चे है। इस बात का ध्यान रहे।

तभी प्रतिज्ञा दरवाजे के बाहर आकर खड़ी हो जाती है। सभी चौंक जाते है,की प्रतिज्ञा ने तो कुछ सुना नहीं लेकिन प्रतिज्ञा सभी लोगो को देखती है,और इस तरह सब उससे डरे हुए है, तो पूछती है, की आप लोग हमे देखकर ऐसे क्यों चौंक जैसे कोई भूत देख लिया हो। इस बात से सभी अंदर ही अंदर खुश होते है,की प्रतिज्ञा ने कुछ नही सुना।

प्रतिज्ञा को लगता है,की वह कृष्णा के दादी के श्राद्ध में नही थी,इसलिए सभी लोग गुस्सा है इस लिए वह सज्जन सिंह से माफी मांगती है। सज्जन सिंह बताते है,की घंटीलाल का श्राद्ध शांति पूर्वक संपन्न हो गया इसीलिए सभी शांति धारण किए हुए है। प्रतिज्ञा देखती है,की गर्व की फोटो नीचे पड़ी होती है और उसका फ्रेम टूट गया है। इसपर वह सब से गर्व के फोटो के बारे में पूछती है। सज्जन सिंह कहते है,की हम अपने कमरे में उसे लगाने जा रहे थे। रास्ते में से हाथ से छूट गया और यह फोटो गिर कर टूट गया। प्रतिज्ञा कहती है,की कोई बात नही इसे मैं नया फ्रेम लगवा दूंगी और फोटो लेकर जाने लगती है।

कृष्णा सोचने लगता है,की गर्व के बारे में प्रतिज्ञा को पता नहीं चलना चाहिए,अब सब घरवालों को भी पता लग चुका है।फिर कृष्णा,बलवंत और प्रतिज्ञा का अलग – अलग दृश्य दिखाया जाता है,और एपिसोड समाप्त हो जाता है।

अगली कड़ी में सज्जन सिंह कृष्णा को राधे से मुलाकात से सारे सबूत खत्म करने को कहते है। दूसरी ओर प्रतिज्ञा गंगा घाट के बगल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखती है। कृष्णा को एक फोन आता है,और वह कहता है,की हम जानते है बलवंत के बेटे का हत्यारा तुम्हारा बेटा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

9,997FansLike
45,000SubscribersSubscribe

Latest Articles