मैडम सर: एपिसोड 210 की पूरी कहानी का सारांश पढ़े,बस कुछ मिनटों में ही,जानिए उन मनचले लड़को को मैडम सर ने कैसे सबक सिखाया? मैडम सर के महिला थाने में होली कैसे मनाया गया और कयामत बनकर करिश्मा सिंह को कौन डरा रहा है? इन सब तथ्यों को इस लेख के माध्यम से जानिए।

मैडम सर: एपिसोड 210 की पूरी कहानी का लिखित सारांश | Madam Sir,Episode 210 Written Update In Hindi

मैडम सर के 210वे एपिसोड की शुरुआत होती है,जब संतोष उन लड़कों से लॉकेट निकालने के लिए कहती है,लेकिन वही लॉकेट दूसरे लड़के ने भी पहना होता है,और लॉकेट एक पुख्ता सबूत नहीं है,यह कहकर सभी छूट जाते है।

अगले दृश्य में संतोष शर्मा उन लड़कों का मुकाबला करने के लिए कयामत के गेट अप में होती है,जिसे देखकर सभी चौंक जाते है,फिर वह सबके सामने कयामत नही होने की बात करती है,और केवल उन लड़कों का सामना करने के लिए ही कयामत का गेट अप रखने की बात करती है। हसीना उसे गैर कानूनी काम करने से रोकते है,और उसे सही ढंग से उन लड़कों को सबक सिखाने की बात कहती है।

अगले दिन होली का दिन होता है,बिल्लू दारू के नशे में होने की एक्टिंग करते हुए उन लड़कों के पास जाता है,जो लड़कियों के साथ होली खेलने के लिए बेताब हो रहे होते है। बिल्लू उन्हे लड़कियों के होली खेलने का कंपार्टमेंट बताकर उन्हे करिश्मा सिंह और संतोष शर्मा के पास भेज देता है। यहां साड़ी पहनकर घूंघट में संतोष शर्मा और बाकी सब होली खेल रहे होते है,वे बदमाश लड़के भी उनके साथ होली खेलने का प्रस्ताव रखते है,फिर वह मान जाती है और दो मिनट का समय लेकर रंग और गुब्बारे लाने को बात करती है,फिर वह सब लाठी लेकर आती है और उन लड़कों को मारना शुरू कर देती है,थोड़ी बाद हसीना मालिक और पुष्पा सिंह जी आती है,और वहां उन्हें रोकती है,मैडम सर के सामने सभी माफी मांगते और ऐसा दोबारा नहीं करने को कहते है।

अगले दिन होली को तैयार हो रही होती है,सभी होली की तैयारी में जुटे होते है,नवाब साहब की मदद से बहुत अच्छी सजावट होती है,हसीना मालिक और नवाब साहब की मुलाकात होती है,हसीना मालिक नवाब साहब को उनके लिए व्यवस्था करने पर धन्यवाद बोलती है। नवाब साहब फिर पुष्पा सिंह से उनके साथ होली खेलने की अनुमति मांगते है।

दूसरी ओर करिश्मा सिंह पूरे शहर में सबको सूचना देती है,की आज उनकी होली में कोई व्यवधान नहीं डालेगा,नहीं तो वह उन्हें थाने में बंद कर देंगी। 

करिश्मा सिंह थाने में पहुंचती है,जहां उन्हें कोई कयामत के गेटअप में दिखाई देता है,वह चौंक जाती है, उन्हे बार – बार कयामत के गेटअप में कोई नजर आता है,वह घबराकर थाने में उसे खोजती है,थोड़ी देर बाद संतोष उन्हे बुलाने के लिए आती है। करिश्मा थोड़ी देर में आने की बात बोलती है उसके बाद करिश्मा सिंह को उनके डेस्क पर नई कयामत का खत मिलता है,और उसे वह कोई जुर्म की धमकी देती है। एपिसोड यहीं समाप्त हो जाता है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.