राधाष्टमी
राधाकृष्ण मूर्ति

आज मनाई जाएगी राधाअष्टमी, राधा के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है यह पर्व,आज भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि है आज के दिन भगवान श्रीकृष्ण की प्रेमिका और सबसे प्रिय गोपी राधा देवी के जन्मदिवस के रूप में मनाते है।

आज के दिन वृंदावन,मथुरा और बरसाना में यह त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है।किन्तु इस बार covid-19 काल के कारण जिस प्रकार श्रद्धालुओं ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी शांति पूर्वक घरों में covid-19 गाइडलाइंस के अन्तर्गत मनाई थी उसी प्रकार इस पर्व पर भी लोगों को covid -19 गाइडलाइंस का अनुपालन करके है मनाया जाएगा। 

किस प्रकार मनाई जाती है राधाष्टमी

लोगों के में में यह सवाल जरूर रहता है कि किस प्रकार राधाष्टमी का पर्व मनाए,तो आयिए जानते है कि covid-19 काल में घर पर बैठकर ही राधाष्टमी का पर कैसे मनाए? जिस प्रकार भगवान श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है उसी प्रकार राधा रानी के जन्मोत्सव के रूप में यह पर्व मनाते है। आज के दिन राधा रानी के जन्म के उपलक्ष्य में लोग व्रत रहते है,राधा रानी की पूजा अर्चना करते है साथ ही भगवान श्रीकृष्ण की भी पूजा की जाती है,तो आप घर पर ही रहकर राधा और कृष्ण की पूजा अर्चना करके,व्रत रहकर,शांति पूर्वक इस पर्व को घर पर रहकर ही मनाए।

किस प्रकार करें पूजन 

ऐसी मान्यता है कि यदि कोई व्यक्ति राधारानी की पूजा करके उन्हें प्रसन्न कर लेता है तो उसे भगवान श्री कृष्ण भी प्राप्त हो जाते है इसी लिए आज के दिन भगवान श्री कृष्ण और राधा दोनों की ही पूजा की जाती है। आज के पूजन के लिए स्नान ध्यान करके एक लकड़ी के पीठ पर पीला वस्त्र बिछाकर राधा – कृष्ण की युगल मूर्ति रखकर पीले पुष्प अर्पित कर के पूजन करें। राधारानी की स्तुति करें,उनके चालीसा का पाठ करें।राधा रानी को जगत माता महा लक्ष्मी का अवतार माना जाता है इस लिए यह दीन लक्ष्मी पूजन के लिए भी उपयुक्त है। राधा और कृष्ण के पूजन से जीवन में प्रेम और सद्भाव बढ़ता है। पूजन करने के पश्चात राधा और कृष्ण की आरती अवश्य करें।

राधाष्टमी के दिन व्रत अवश्य रखें

आज राधाष्टमी के दिन राधारानी के व्रत से परिवार में सुख शांति विद्यमान होता है। जैसा कि राधारानी को जगत माता महालक्ष्मी का अवतार माना जाता है,इसी कारणवश ऐसी भी मान्यता है कि आज राधाष्टमी का व्रत रखने से घर में माता लक्ष्मी का वास होता है।स्त्रियों को राधाष्टमी का व्रत रखने पर राधारानी उन्हें अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद देती है। अतः राधाष्टमी का व्रत अत्यंत ही फलदाई है। राधाष्टमी के इस पर्व पर सभी पाठको को भारत प्रहरी की तरफ से हार्दिक शुभकामनाए दी जाती है। आप सभी पर राधारानी और भगवान श्रीकृष्ण अपनी कृपा बनाए रखे ऐसी कामना करती है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.