विधानसभा चुनाव 2022 : आज वह दिन आ ही गया जिसका इंतजार पांच राज्यों की राजनीतिक पार्टियां कर रही है। आज निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश समेत उत्तराखंड,पंजाब, गोवा और मणिपुर में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का एलान कर दिया है। जिसके देखते हुए आज से राजनीतिक सरगर्मी का पर और बढ़ जायेगा।

आपको बता दे की विधानसभा 2022 के चुनाव को सात चरणों में संपन्न कराया जायेगा। चुनाव का प्रथम चरण 10 फरवरी 2022 होगा,जबकि 7 मार्च 2022 को सांतवा और आखिरी चरण होगा। चुनाव के परिणाम 10 मार्च 2022 को जारी किए जाएंगे।

विधानसभा चुनाव 2022: सातों चरण की सारणी

पहला चरण – 10 फरवरी 2022 को पहले चरण के मतदान कराए जायेंगे। पहले चरण में केवल उत्तर प्रदेश में मतदान किया जाएगा।

दूसरा चरण – 14 फरवरी 2022 को दूसरे चरण के मतदान कराया जायेगा। 14 फरवरी को उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण का मतदान किया जाएगा। जबकि पंजाब और उत्तराखंड में 14 फरवरी 2022 को एक ही चरण में चुनाव पूरा करा लिया जाएगा।

तीसरा चरण – 20 फरवरी 2022 को तीसरे चरण का मतदान किया जाएगा। तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश में ही मतदान कराया जायेगा।

चौथा चरण – 23 फरवरी 2022 को चौथे चरण का मतदान कराया जायेगा। इस चरण में भी उत्तर प्रदेश में मतदान कराया जायेगा।

पांचवा चरण – 27 फरवरी 2022 को पांचवे चरण में मतदान कराया जायेगा। पांचवे चरण में उत्तर प्रदेश के साथ – साथ मणिपुर में भी मतदान कराया जायेगा। मणिपुर के लिए यह पहला चरण होगा।

छठा चरण – 3 मार्च 2022 को छठे चरण का मतदान कराया जायेगा। छठे चरण में उत्तर प्रदेश के साथ मणिपुर में भी मतदान होगा। मणिपुर के लिए यह दूसरा और अंतिम चरण का चुनाव होगा।

सांतवा चरण – 7 मार्च 2022 को विधानसभा चुनाव 2022 के सांतवे यानी अंतिम चरण के मतदान कराए जायेंगे। इस चरण में केवल उत्तर प्रदेश में मतदान कराया जाना है।

परिणाम – पांचों राज्य और सातों चरण के मतदान का परिणाम एक साथ 10 मार्च 2022 को जारी किया जाएगा। आपको बता दे की उत्तर प्रदेश में सातों चरण में चुनाव होंगे। जबकि पंजाब और उत्तराखंड में एक चरण और मणिपुर में दो चरण में चुनाव होंगे। सबका परिणाम एक साथ घोषित किया जाएगा।

विधानसभा चुनाव 2022

विधानसभा 2022 के चुनाव के पहले कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए चुनाव आयोग ने मतदान केंद्रों की  संख्या बढ़ा दी है। यह भी निर्णय लिया गया है,की जो मतदाता कोरोना से संक्रमित होगा वह पोस्टल बैलेट पेपर का इस्तेमाल करते हुए अपना गुप्त मतदान दे सकता है। चुनाव आयोग ने चुनावी रैलियों की वीडियोग्राफी करने का भी आदेश जारी किया है।

आपको बता दे चुनाव आयोग ने चुनावी खर्चे में भी बढ़ोतरी की है। उत्तर प्रदेश,पंजाब, उत्तराखंड जैसे राज्यों में चुनाव में खर्च करने के लिए अधिकतम 40 लाख रुपए की इजाजत दी गई है। जबकि गोवा और मणिपुर में यह आंकड़ा केवल 28 लाख रुपए किया गया है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.