Assistant Teacher Recruitment: यूपी में जल्द ही प्राथमिक विद्यालयों में 60 से 70 हजार की नई वेकेंसी आ सकती है। सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार प्राथमिक विद्यालयों के 60 से 70 हजार सहायक अध्यापकों के पदों पर भर्ती आ सकती है। उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने दिसंबर 2021 में प्राथमिक विद्यालय के 17000 की नई सहायक अध्यापक शिक्षक भर्ती का ऐलान किया था उस समय बीएड और डी एल एड के प्रशिक्षुओं ने विधानसभा का घेराव करते हुए 17000 की जगह 97000 पदों की भर्ती की मांग की गई थी।

जिसके बाद सरकार ने प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए कोई विचार नहीं किया और एलान किए गए 17000 पदों की नई भर्ती भी नही दी। विधानसभा चुनाव समाप्त होने और नई सरकार के गठन के बाद भी उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से नई शिक्षक भर्ती को लेकर कुछ नहीं कहा गया। सरकार लगातार नई शिक्षक भर्ती को लेकर कुछ कहने से बचती रही। ऐसा लग रहा था की सरकार शायद नई शिक्षक भर्ती की बात को शायद भूल गई। इसी बीच सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर आ रही है सरकार नई शिक्षक भर्ती के बारे में विचार कर रही है और आने वाले दो से तीन महीने के भीतर ही सरकार प्रशिक्षुओं से आवेदन मांग सकती है। 

यह भर्ती 17000 या 97000 या फिर 51112 पदों के लिए बल्कि यह भर्ती इस बार 60 से 70 हजार पदों पर हो सकती है। आपको बता दे उत्तर प्रदेश में इससे पहले साल 2018-19 के दौरान प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों की भर्ती का विज्ञापन जारी हुआ था।

प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक बनने के लिए अभ्यर्थी के पास स्नातक की डिग्री के साथ बीएड और डी एल एड की डिग्री भी होनी चाहिए और शिक्षक पात्रता परीक्षा(TET) उत्तीर्ण होना चाहिए। अगर अभ्यर्थी केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) भी उत्तीर्ण रहेगा तो वह शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए भाग ले सकता है। 

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.