Ind vs Ire t20i:रविवार को भारत और आयरलैंड के बीच 2 टी 20 मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला द विलेज ग्राउंड पर खेला गया। मैच के शुरू होने से पहले ही बारिश होने के कारण मैच विलंब से शुरू हुआ। जिसके कारण मैच के ओवरों में कटौती की गई और मैच को 12-12 ओवरों का कराने का निर्णय लिया गया। हालांकि भारत ने पहले ही टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का निर्णय लिया था।

मैच शुरू होने के बाद भारतीय गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने मैच की शुरुआत की,भुवनेश्वर कुमार की पहली गेंद फेंकने के बाद जो स्पीडोमीटर ने बताया उसके बाद से फैंस में हलचल मच गई। भुवनेश्वर कुमार की पहली गेंद को 201 किलोमीटर प्रतिघंटा के रफ्तार से दिखाया और थोड़ी देर बाद ही भुवनेश्वर कुमार की गेंद को 208 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दिखाया गया। हालांकि भुवनेश्वर कुमार अपने उसी गति और ले के हिसाब से ही गेंदबाजी कर रहे थे। जिस गति से वह गेंदबाजी किया करते है। 201 और 208 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार की गेंद स्पीडोमीटर की गलती से दिखाया गया। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। टी 20 वर्ल्ड कप के बाद पाकिस्तान के गेंदबाज हसन अली का बांग्लादेश के खिलाफ एक मुकाबले में 219 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दिखाया गया था। वह वाकया भी स्पीडोमीटर की गलती के कारण हुआ था।

भुवनेश्वर कुमार ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की सबसे तेज गेंद तो नहीं फेंकी लेकिन आयरलैंड के खिलाफ पहले टी 20 में भारत को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। भुवनेश्वर कुमार ने पारी के पहले ओवर में ही बिना कोई रन दिए,आयरलैंड के कप्तान को बोल्ड कर दिया। भुवनेश्वर कुमार ने पहले दो ओवर में मात्र 2 रन देकर 1 विकेट झटका था लेकिन उसके बाद भुवनेश्वर कुमार दसवें में थोड़े महंगे साबित हुए लेकिन 12 ओवर के मैच में इतनी किफायती गेंदबाजी काबिले तारीफ है।

आयरलैंड के खिलाफ इस मैच में स्पीड सेंसेशन उमरान मलिक का डेब्यू हुआ। उमरान मलिक ने अपने करियर के पहली गेंद 148 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंद फेंकी। केवल एक ही ओवर उन्हें फेंकने को मिला और बिना कोई विकेट लिए ही उन्हें संतोष करना पड़ा।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.