Homeटीवी सीरियलIshq Par Zor Nahin,23 July Episode Best Written Update Hindi | इश्क...

Ishq Par Zor Nahin,23 July Episode Best Written Update Hindi | इश्क पर जोर नहीं,23 जुलाई के एपिसोड का लिखित अपडेट हिंदी में

इश्क पर जोर नहीं(Ishq Par Zor Nahin) : एपिसोड की शुरुआत होती है, सावित्री के कहती है,कि मैंने तुम्हारे शराबी बेटे को छोड़ दिया क्योंकि मेरे बच्चे खतरे में थे। वह दादी से बहस करती है। वह कहती है,कि तुम्हें पता था कि तुम्हारा बेटा मुझे प्रताड़ित करता था मुझे अपने बच्चों को बचाना था तुमने झूठे अभिमान के लिए अपना घर तोड़ दिया। दादी पूछती हैं,कि तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई और हाथ उठाती है। सावित्री ने हाथ रोक लिया। वह कहती है,कि मैंने अपने बच्चों से दूर रहने के लिए बिजली के झटके का अपमान किया सच यह है,कि आपका बेटा मुझे प्रताड़ित करता था क्योंकि आपने इसकी अनुमति दी थी, आप उसे रोक सकते थे लेकिन आपने उसे नहीं रोका, आपने मेरे साथ गलत किया है मेरे बच्चों के लिए सच और तुम्हें बेनकाब। दादी ने उसे ताना मारा।

वह कहती है,कि आपको मेरी सच्चाई बताने के लिए यहां रहना होगा और आपका सच एक साथ मर जाएगा मैंने व्यवस्था की है,कि मेरे गुर्गे कुछ समय में यहां पहुंच जाएंगे। सावित्री चौंक जाती है। कार्तिक कहता है,कि तुमने अच्छा नृत्य किया। वह अहान पर मजाक करता है। अहान पूछता है,कि क्या तुम ठीक हो इश्की। इश्की को लगता है,कि मैं उसे सच नहीं बता सकता। वह पूछता है,कि क्या तुम ठीक हो। वह कहती है,कि मुझे चक्कर आ रहा है। वह पूछता है,कि क्या आपने शुगर लेवल चेक किया है। वह कहती है,कि मैं इंसुलिन शॉट लेना भूल गई। वह कहता है चलो घर चलते हैं। कार्तिक कहता है,कि मैं बिल का भुगतान करूंगा और आओ तुम जाओ। इश्की सोचती है,कि माफ करना मेरे पास कोई रास्ता नहीं है,कि हमें तुम्हारी माँ को तुम्हारी दादी से बचाने के लिए घर जाना पड़े। अस्पताल के लोग आते हैं।

दादी कहती हैं,कि आप एक सांप पर भरोसा कर सकते हैं लेकिन मुझ पर नहीं आपने मुझ पर भरोसा करने की गलती की, आप पहले और अब भी मूर्ख थे। सावित्री कहती हैं,कि इस बार मैं बिना लड़े नहीं हारूंगी। वह एक फूलदान लेती है और दादी को मारती है। दादी गिर जाती है। वह चिल्लाती है उसे पकड़ लो। गुंडे उसे रोकते हैं। अहान और इश्की रास्ते में हैं। वह कहते हैं,कि हम 2 मिनट में घर पहुंच रहे हैं, चिंता न करें। इश्की सावित्री की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करती है। दादी का कहना है,कि इस बार उसे पकड़ने से नहीं बचना चाहिए। सावित्री दौड़ती है। वह मार्बल्स को फर्श पर फेंकती है। गुंडे नीचे गिर जाते हैं। दादी ने उसे थप्पड़ मारा। गुंडे उसे पकड़ लेते हैं। दादी का कहना है,कि तुम्हारा खेल खत्म हो गया है, उसे यहाँ से ले जाओ। अहान और इश्की घर आते हैं। वे घंटी बजाते हैं। अहान दादी से दरवाज़ा खोलने के लिए कहता है। दादी चिंता।

कार्तिक राज और सोनू भी आते हैं। सोनू कहते हैं,कि शायद घर पर कोई नहीं है। अहान का कहना है,कि दादी घर पर थी। सावित्री सोचती है,कि अहान मुझ पर भरोसा नहीं करेगा, भले ही वह मुझे देख ले मुझे भागना ही पड़ेगा। वह पिछले दरवाजे से भागती है। दादी कहती है,कि उसे जाने दो तुम भी पिछले दरवाजे से भागो। गुंडे चले जाते हैं। दादी कहती हैं,कि अगर अहान को पता चला तो मेरा खेल खत्म हो जाएगा। अहान कार्तिक को पिछले दरवाजे से अंदर जाने और दरवाजा खोलने के लिए कहता है। दीदी दरवाजा खोलती है। अहान कहता है,कि मैं बहुत देर से चिल्ला रहा था। दादी कहती हैं सॉरी मैं सो गया जो इश्की को हुआ। उसे गुस्सा आता है,कि इश्की ने उसका खेल खराब कर दिया। अहान इश्की को कमरे में ले जाता है। अहान को इंसुलिन का इंजेक्शन मिलता है। इश्क़ी लेता है।

वह कहता है,कि तुम जिद्दी हो सकते हो लेकिन खुद को नुकसान पहुंचाना बंद करो मैं तुम्हारी भलाई के लिए सब कुछ बताता हूं। इश्की पूछती है,कि क्या अब तुम मुझे डांटोगे। वह कहता है,कि मैं जूस बनाकर तुम्हारे लिए लाऊंगा। कार्तिक कहते हैं,कि हमें वापस आना पड़ा इश्की अस्वस्थ हो गई। अहान ने भोला को पुकारा। दादी का कहना है,कि वह मेरे लिए दवाएं लेने गए थे। वह कहता है,कि मैं उसके लिए जूस बनाना चाहता हूं। वह कहती है,कि वह आएगा और बना देगा। वह कहता है,कि मैं इंतजार नहीं कर सकता मैं इसे अपनी पत्नी के लिए बनाऊंगा। ज्ााता है।

इश्की मासी को फोन करती है और कहती है,कि सावित्री यहाँ नहीं है क्या वह घर आई थी। मासी कहते हैं, नहीं, मैं चिंतित हूं। सावित्री आती है। मासी कहती है,कि वह आ गई है। सावित्री ने दरवाजा बंद किया और रोने लगी। मासी पूछती है,कि क्या हुआ। इश्की सावित्री के लिए प्रार्थना करती है। सावित्री कहती है,कि वह मुझे मारना चाहती थी इश्की और अहान समय पर आ गया। मासी कहती है,कि तुम यहाँ सुरक्षित हो चिंता मत करो। दादी का कहना है,कि इश्की ठीक थी वह कैसे बीमार हो गई। अहान का कहना है,कि वह आज इंसुलिन लेना भूल गई। वह कहती है,कि आप चिंता न करें कि आप उसके पति हैं, ये चीजें आपको शोभा नहीं देंगी, वह आकर अपने लिए जूस बना सकती है।

वह कहता है,कि आप नहीं जानते कि उसके साथ क्या हुआ था उसे चक्कर आ रहा था आप चाहते हैं,कि वह उस अवस्था में यहां आए और अपने लिए रस बनाये कम से कम उसके लिए सहानुभूति दिखाएं। वह कहती है,कि सॉरी मैंने आपको कभी किचन में नहीं जाने दिया, इससे पहले लड़कों को यह शोभा नहीं देता कि आप इश्की का आनंद लेने के लिए बाहर गए थे, अस्वस्थ हो गए आपको वापस आना पड़ा। उनका कहना है,कि उनका स्वास्थ्य सबसे ज्यादा खराब है। वह रस लेता है। वह कहती है,कि वह पत्नी की कठपुतली बन रहा है। अहान इश्की के पास आता है। वह इश्की को जूस पिलाता है। वह सोचती है,कि मुझे खेद है,कि मैं झूठ नहीं बोलना चाहता लेकिन मैं असहाय हूं। वह उसे आराम करने के लिए कहती है। वह कहता है,कि तुम आराम करो मैं यहाँ हूँ मैं तुम पर नजर रख रहा हूँ। वह पूछती है क्यों। वह कहता है मेरा मतलब है,कि मैं तुम्हारा ख्याल रखूंगा। ना कुछ पुचा… खेलता है… वह उसकी देखभाल करने बैठता है। सुबह वह उसे जगाता है। वह उसके लिए नाश्ता बनाता है। वह कहता है,कि तुम यहीं विश्राम करोगे। वह कहती है,कि अगर मैं अस्वस्थ हूं तो मैं आराम करूंगी। जाता है। वह मासी को बुलाती है। मासी का कहना है,कि सावित्री अस्वस्थ हो रही है बस घर आ जाओ। इश्की और मासी सावित्री को अस्पताल ले जाते हैं।

इश्क पर जोर नहीं

राधिका और रिया इश्की को देखते हैं। रिया का कहना है,कि यह महिला इश्क़ी के लिए छोटी लगती है। वह पता लगाने जाती है। वह सोचती है,कि मुझे पता चल जाएगा कि इश्की क्या कर रही है। राधिका रिया को रोकती है और पूछती है,कि तुम क्या करना चाहते हो शायद इश्की को कोई रिश्तेदार मिल गया हो। रिया पूछती है,कि वह महिला कौन है। राधिका का कहना है,कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अपने बारे में सोचो मेरे साथ आओ। वो जातें हैं। डॉक्टर का कहना है,कि उसे पैनिक अटैक आया है, वह ठीक हो जाएगी। इश्की को दादी पर गुस्सा आता है। अहान आता है और इश्की कहता है। इश्की चौंक जाती है।

अगले एपिसोड में – अहान,सावित्री को उठने के लिए कहता है। वह उसकी देखभाल करता है। इश्की को लगता है,कि वह बेटे की ड्यूटी कर रहा है। वह रिया से पूछता है,कि वह यहाँ क्या कर रही है। रिया कहती है,कि मैं अहान के बच्चे के साथ गर्भवती हूं। इश्की चौंक जाती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

अखिलेश जैन on अहं! रंगमंचास्मि।