हमारे देश में मुख्यत तीन प्रकार के मौसम पाए जाते है,ग्रीष्म ऋतु,वर्षा ऋतु और शीत ऋतु। ऐसे समय पर जब मौसम बदलता है,तो खांसी, जुकाम होना आम बात हो जाती है। जिसके शुरुआत के लक्षण एवं उसको ठीक करने के विभिन्न प्रकार के उपाय हैं जो इस प्रकार है

खांसी के लक्षण

वैसे तो खांसी में आदमी खांसने लगता है तो लोग कहते हैं,आपको खांसी आ रही है लेकिन खांसी विभिन्न प्रकार की होती है।

खांसी मुख्यतः दो प्रकार की होती हैं, इसकी वजह से व्यक्ति को कई और बीमारियों से ग्रसित हो सकता है।

1.सुखी खांसी

2. कफ़ सहित खांसी

सुखी खांसी के लक्षण – सूखी खांसी आम व्यक्ति के जीवन में मौसम के प्रतिकूल होने पर, धुआं-धूल में प्रवेश करने पर प्रदूषण आदि के कारण से आने लगती है। आदमी खांसने से परेशान हो जाते है, सोते,बैठते या फिर कोई भी काम ठीक नहीं कर पाता है।अगर इनका सही समय पर इलाज नहीं किया गया तो यह भयानक रूप ले लेती है।

कफ सहित खांसी – कफ सहित खांसी आम जीवन में जुकाम होने के बाद बलगम के साथ आती है, जो धीरे-धीरे अपना प्रभाव बढ़ाने लगती है और आदमी को फेफड़े में समस्या उत्पन्न कर सकती है। यह खांसी आपको सूखी खांसी की ही तरह परेशान कर सकती है।

खांसी ठीक करने के पांच घरेलू उपाय

  1. जब आपको खांसी आना शुरू होती है,या खांसी के शुरुआती लक्षण दिखाई देने लगते है,तो आप को पानी को हल्की आंच में गरम करके पीना चाहिए। इससे आपकी खांसी को करी राहत होगी।
  2. दिन भर मे दो से तीन बार नमक और पानी का गरारे करें
  3. कम से कम दिन में 3 बार मसाले वाले चाय का सेवन करें,जिसमे अदरक,तुलसी आदि का मिश्रण हो।
  4. आंवला का सेवन करना भी खांसी ठीक करने में कारगर होता है।
  5. रात को सोते समय दूध में हल्दी डालकर पीने से भी खांसी से राहत मिलती है।

भारत प्रहरी

भारत प्रहरी एक पत्रिका है,जिसपर समाचार,खेल,मनोरंजन,शिक्षा एवम रोजगार,अध्यात्म,...

Leave a comment

Your email address will not be published.