Posted inFeatured

संघर्षों के बीच गोरखपुर के रामदयाल ने हासिल किया सफलता,राजस्व लेखपाल के पद पर हुए चयनित

Ramdayal: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ चयन आयोग द्वारा आयोजित किए गए राजस्व लेखपाल भर्ती परीक्षा 2022 का परिणाम हाल ही में आयोग द्वारा घोषित किया गया। राजस्व लेखपाल के अंतिम परिणाम में 8085 पदों के सापेक्ष 7897 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के ग्राम सराय चांद पार के निवासी रामदयाल भी उन्ही अभ्यर्थियों में से एक अभ्यर्थी है,जिनका राजस्व लेखपाल के पद पर अंतिम चयन हुआ है,परिणाम आने के बाद इनके परिवार में खुशी का माहौल है। आइए जानते है अभ्यर्थी रामदयाल के संघर्ष की कहानी

समस्याओं से जूझते हुए लेखपाल पद पर चयनित हुए रामदयाल (Ramdayal)

Ramdayal
Ramdayal

राजस्व लेखपाल के पद पर चयनित होने वाले अभ्यर्थी रामदयाल (Ramdayal) उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाले है। इनके पिता का नाम रामप्रीत तथा माता का नाम मांडवी देवी है। रामदयाल की प्रारंभिक शिक्षा गोरखपुर के खजनी में श्रीमती द्रौपदी देवी त्रिपाठी इंटर कॉलेज से हुई। इसके बाद इन्होंने मदन मोहन मालवीय इंजीनियरिंग कॉलेज से बी.टेक की पढ़ाई पूरा किया।

इन्हे बचपन में समाचार पत्र पढ़ना और टीवी पर सुषमा स्वराज का भाषण सुनना अच्छा लगता था।इन सबसे रामदयाल के अंदर भारतीय राजनीति को लेकर समझ विकसित हुई। बचपन से ही राजनीति और समाज की गहराइयों को समझने वाले रामदयाल के लिए इंजीनियरिंग बोझ सी लगने लगी,हालांकि इनकी आर्थिक स्थिति उतनी अच्छी नही थी की राजनीति में करियर बना सके।

सिविल सेवा की कर चुके है तैयारी

रामदयाल ने इंजीनियरिंग करने के बाद सिविल सेवा की तैयारी शुरू कर दिया। बिना कोचिंग के परिक्षा को पास कर पाना किसी भी अभ्यर्थी के लिए आसान नहीं होता है,उसके बाद भी रामदयाल ने स्वाध्याय के बल पर दो बार यूपीपीसीएस के मुख्य परीक्षा तक पहुंचे। 

कोविड काल में मां का हुआ निधन

कोरोना काल में न जाने कितने लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया। लेखपाल पर पर चयनित अभ्यर्थी रामदयाल उन लोगों में से एक है। कोरोना काल की दौरान इन्होने अपनी माता मांडवी देवी को खो दिया। इनकी मां के निधन के बाद यह पूरी तरह से टूट चुके थे। इन्हे उस समय जीवन में कोई उद्देश्य ही दिखाई नहीं दे रहा था। इस बीच उत्तर प्रदेश में राजस्व लेखपाल की भर्ती आई। जिसके बाद इन्होंने मन ही मन इस नौकरी को हासिल करने का उद्देश्य बना लिया। रामदयाल ने कठिन परिश्रम कर के इस परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन किया। इन्हे उम्मीद थी की परिणाम आने के बाद इनका चयन हो जाएगा।

राजस्व लेखपाल परिणाम में हुआ विलंब

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित किए गए राजस्व लेखपाल भर्ती परीक्षा के परिणाम आने में बहुत समय लगा। आपको जानकारी के लिए बता दें 31 जुलाई 2022 को राजस्व लेखपाल की परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसके बाद इसका दस्तावेज सत्यापन का परिणाम 2 मई को जारी किया गया। कुछ प्रश्नों को लेकर कोर्ट में चल रहे विवादों के चलते इसके परिणाम में विलंब हुआ। सितंबर 2023 से दिसंबर 2023 के दौरान UPSSSC ने दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया पूरी किया। दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद आयोग द्वारा 30 दिसंबर 2023 को अंतिम परिणाम घोषित हुआ,जिसमे रामदयाल चयनित हुए।

मित्रों का मिला सहयोग

Ramdayal

राजस्व लेखपाल परीक्षा परिणाम में विलंब होने पर रामदयाल समेत परीक्षा में भाग लेने वाले हर अभ्यर्थी परेशान थे और परिणाम जल्द से जल्द जारी हो सके,इसके लिए अभ्यर्थियों ने लखनऊ के एकाना स्टेडियम में पोस्टर तक दिखाए थे। इन सबके बीच राजस्व लेखपाल पद की भर्ती प्रक्रिया तेजी से पूरी हो सके। इसके लिए रामदयाल समेत इनके कई मित्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनता दरबार में गुहार लगाने भी पंहुचे थे। इस दौरान रामदयाल को उनके मित्र  संजय यादव,मुकुल मिश्रा,धर्मेंद्र यादव,पुनीत त्रिपाठी,सुरेंद्र गुप्ता का बहुत साथ मिला। 

Posted inसमाचार

पंचायत चुनाव से पहले गोरखपुर जिले के असिलाभार गांव में सत्ता बचाने के लिए मतदाता सूची में हुई धांधली,190 मतदाताओं को मृतक और विवाहिता दिखाकर नाम हटाने की कोशिश